February 25, 2024

कैमूर में स्कूल की प्रधानाध्यापिका की हत्या से हड़कंप, घात लगाए अपराधियों ने मारी गोली

कैमूर। बिहार के कैमूर में प्रधानाध्यापिका की हत्या से हड़कंप मच गया। एक सप्ताह के अंदर अपराधियों ने हत्या की दूसरी घटना को अंजाम देकर पुलिस को खुली चुनौती दी है। मामला रामगढ़ थाना क्षेत्र का है। जहां सोमवार रात घर लौट रही एक प्रधानाध्यापिका की पहले से घात लगाए अपराधियों ने गोली मार कर हत्या कर दी। मृतक महिला थाना क्षेत्र के लक्षनपुरा के बलुआ गांव में स्थित विद्यालय में प्रधानाध्यापिका के पद पर कार्यरत थी, जिसकी पहचान स्थानीय निवासी योगेंद्र सिंह की पत्नी जयंती सिंह के रूप में हुई है। मिली जानकारी के मुताबिक जयंती सिंह अपने गोतिया (रिश्तेदार) के घर से अपने घर वापस लौट रही थी, तभी गली में पहले से घात लगाए अपराधियों ने गोली मार दी। इधर घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस के द्वारा शव को कब्ज में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भभुआ सदर अस्पताल भेज दिया गया है। हालांकि अपराधियों के द्वारा यह घटना किस कारण से अंजाम दिया गया है, यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है। पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। जिले में एक सप्ताह के भीतर अपराधियों द्वारा दूसरी बड़ी घटना को अंजाम दिया गया है। बीते 11 जनवरी को ही चैनपुर थाना क्षेत्र के मदुरनी पहाड़ी के निकट एक सिर कटी लाश बरामद हुई थी, जिसकी पहचान चैनपुर के ही एक शिक्षिका के रूप में हुई थी। उस मामले की गुत्थी अभी तक सुलझी भी नहीं थी दूसरी घटना सामने आ गई। महिला की हत्या का आरोप उसके पति ने अपने ही भतीजे पर लगाया है। भभुआ सदर अस्पताल में पोस्टमॉर्टम कराने आए पति योगेंद्र सिंह ने कहा कि ‘मेरे भतीजे ने ही गोली मारकर पत्नी की हत्या की है। मैनें सभी रिपोर्ट और जानकारी रामगढ़ थाना को दे दी है। जिला प्रशासन से मांग करता हूं कि हत्यारे को गिरफ्तार कर कठोर से कठोर सजा दी जाए।

About Post Author

You may have missed