November 26, 2022

हत्या-बलात्कार सूबे के लिए बन चुका है पर्याय: पप्पू यादव

संवाद सहयोगी, मसौढी। पूरा सूबा हत्‍या व बलात्‍कार का पयार्य बन चुका है। रोज चार दर्जन से अधिक हत्‍याएं व बलात्‍कार होता है। उक्‍त बातें जन अधिकारी पार्टी (लोकतांत्रिक) के राष्‍ट्रीय संरक्षक सह सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्‍पू यादव ने शुक्रवार को कही। पिछले दिनों मसौढी में घटित घटना के बाद जन अधिकार पार्टी (लोकतांत्रिक) द्वारा मसौढी में शुक्रवार को आयोजित शांति मार्च में राजेश रंजन ने शिरकत किया व लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। बाद वे लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने इशारों ही इशारों में किसी राजनीतिक पार्टी का नाम लिए बगैर कहा कि मसौढी की घटना राजनीति से प्रेरित है और चुनाव में लाभ उठाने की एक साजिश है। उन्‍होंने आरोप लगाया कि देश व सूबे की मूल समस्‍या बेरोजगारी व अशिक्षा से लोगों का ध्‍यान हटाने के लिए ही राजनीतिक पार्टियां इन घटनाओं का पोषक व संरक्षक बनी हुई हैं। उन्‍होंने इा बात पर दुख जताया कि हत्‍या व बलात्‍कार की घटना होने पर आज भी हम सबसे पहले पीडित का धर्म व जाति पूछते हैं। जबकि इन घटनाओं से किसी धर्म व जाति का कोई सरोकार नहीं होता। इस तरह की घटनाओं को मुट्ठीभर असामाजिक तत्‍व अंजाम देते हैं जिसकी बिना भेदभाव से हमें निंदा व प्रतिकार करने की आवश्‍यकता है। इस मार्च में पार्टी के पटना पश्चिमी जिला अध्‍यक्ष जयप्रकाश यादव, युवा परिषद के प्रदेश प्रवक्‍ता रजनीश तिवारी, पटना पूर्वी जिला अध्‍यक्ष नवलकिशोर यादव, जहानाबाद जिला अध्‍यक्ष सतेंद्र यादव, प्रदेश सचिव बेसलाल यादव, प्रखंड अध्‍यक्ष विशाल केसरी समेत दर्जनों कार्यकर्ता शामिल थे। बाद में सांसद राजेश रंजन गोली से घायल सूरज कुमार के घर पहुंचे और उनके परिजनों से मिल अपनी गहरी संवेदना जताई। उन्‍होंने सूरज के परिजन को तत्‍काल 15 हजार रूपए नकद दिया व उसके उपचार का पूरा खर्च वहन करने का आश्‍वासन दिया।

उपद्रव करने के मामले में दो बंदी, गिरफ्तार आरोपितों में एक गुट का सहोदर भी शामिल  

बीते मंगलवार को एक गुट द्वारा एक किशोर को गोली मारने के बाद दो गुटों के बीच पनपे विवाद के दौरान किए गए उपद्रव के मामले में पुलिस ने बीते 24 घंटे के भीतर एक गुट के दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया और शुक्रवार को उन्‍हें जेल भेज दिया। इस तरह इस मामले में अबतक कुल 14 आरोपितों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। और अन्‍य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही थी। गौरतलब है कि बीते मंगलवार को एक गुट के कुछ युवकों ने थाना के कुम्‍हारटोली निवासी सूरज कुमार को गोली मार घायल कर दिया था। इसके बाद दूसरे गुट के दर्जनों लोग उस गुट के मोहल्‍ले पर हमला बोल दिए थे और फिर दोनों गुटों के बीच जमकर पत्‍थरबाजी व फायरिंग हुई थी। मौके पर पहुंची पुलिस पर भी उन्‍होंने रोडेबाजी की थी और शहर में बबाल खडा हो गया था। बाद में पुलिस ने इस मामले में 81 लोगों के खिलाफ नामजद व 300 अज्ञात के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। इधर पुलिस ने बताया कि इस मामले में गिरफ्तारी के लिए गठित टीम ने छापेमारी कर बीते गुरूवार की रात सरवां गांव के रौशन उर्फ बाबा व शुक्रवार की सुबह एक गुट के सरगना गोलू उर्फ हनी के सहोदर थाना के कुम्‍हारटोली निवासी विक्रम कुमार सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया और उन्‍हें शुक्रवार को जेल भेज दिया गया। मालूम हो कि बीते बुधवार की रात पुलिस ने छापेमारी कर ताज गुट के रहमतगंज निवासी मो सद्दाम को भी गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने तलाशी के दौरान सद्दाम के घर से दो पिस्‍तौल व दो जिंदा कारतूस भी बरामद किया था। पुलिस के मुताबिक मो सद्दाम ने इन्‍हीं हथियारों से मंगलवार को उपद्रव के दौरान फॅायरिंग की थी। पुलिस ने बताया कि दोनों गुटों के सरगना व गुटों के अन्‍य सदस्‍यों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है।

About Post Author

You may have missed