November 26, 2022

ऐतिहासिक होगा जदयू का सामाजिक चेतना अभियान महासम्मेलन

पटना। 7 अक्टूबर को पटना के बापू सभागार में होने जा रहे सामाजिक चेतना अभियान महासम्मेलन की तैयारी के सिलसिले में जदयू समाज सुधार वाहिनी की पार्टी मुख्यालय में बैठक हुई। जिसमें प्रदेश अध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह एवं राष्ट्रीय संगठन महासचिव आरसीपी सिंह मौजूद रहे। वाहिनी की अध्यक्ष सह विधायक डॉ. रंजू गीता की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में मुजफ्फरपुर प्रमुख जिला संघ की अध्यक्ष श्रीमती कंचनमाला ने लगभग 50 महिलाओं के साथ जदयू की सदस्यता ग्रहण की।
बशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि संवैधानिक दायरे में रहकर एवं कानून का सही तरीके से पालन करते हुए राजनैतिक आंदोलन को समाज की दिशा में मोड़ने और बड़ा परिवर्तन लाने का श्रेय नीतीश कुमार को जाता है। उन्होंने कहा कि घर की चहारदिवारी से निकलकर महिलाओं का दफ्तर में बैठना बिहार में हुई मौन सामाजिक क्रांति का सबसे बड़ा उदाहरण है। उन्होंने कहा कि जो संभव की परिभाषा जानता है, उसके लिए असंभव कुछ भी नहीं। श्री नीतीश कुमार ने अपनी योजनाओं और सामाजिक सुधार के अभियानों से ये सिद्ध किया है।
वहीं आरसीपी सिंह ने इस मौके पर महत्वपूर्ण घोषणा करते हुए कहा कि जदयू समाज सुधार वाहिनी, महिला जदयू एवं पंचायती राज प्रकोष्ठ से जुड़ी महिलाओं को मिलाकर संयुक्त रूप से जदयू महिला समागम के नाम से जाना जाएगा और इसके द्वारा विभिन्न जिलों में सम्मेलन कर बताया जाएगा कि किस तरह नीतीश कुमार ने आधी आबादी के हौसलों को पंख दिया है। एक अन्य घोषणा के तहत उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जदयू की ओर से क्रिकेट, फुटबॉल, बॉलीबॉल और कबड्डी टूर्नामेंटों का आयोजन किया जाएगा। इन टूर्नामेंटों का नाम गांधी, लोहिया, जेपी और कर्पूरी ठाकुर जैसे महापुरुषों के नाम पर रखा जाएगा।
प्रकोष्ठ की अध्यक्ष श्रीमती रंजू गीता एवं अन्य वक्ताओं ने एक स्वर से कहा कि 7 अक्टूबर को पटना के बापू सभागार में आयोजित समाज सुधार वाहिनी का सामाजिक चेतना अभियान महासम्मेलन हर लिहाज से ऐतिहासिक होगा। इस महासम्मेलन से यह साबित हो जाएगा कि राज्य की नारी-शक्ति नीतीश कुमार के साथ है। विभिन्न जिलों से आईं महिला कार्यकर्ताओं ने कहा कि विकास पुरुष नीतीश कुमार ने बिहार की हर बेटी और बहन के जीवन को उन्नत और समृद्ध बनाने और उनके विकास की नई गाथा लिखने में जो भूमिका निभाई है उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता।
मौके पर राज्यसभा सांसद श्रीमती कहकशां परवीन, पूर्व सांसद श्रीमती मीना सिंह, पूर्व मंत्री सह विधायक श्रीमती लेसी सिंह, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती दिलमणि देवी, विधायक श्रीमती कविता सिंह, श्रीमती रीना यादव, पूर्व विधायक श्रीमती रजिया खातून, श्रीमती अनु शुक्ला, श्रीमती नीता चौधरी, प्रदेश महासचिव सह मुख्यालय प्रभारी डॉ. नवीन कुमार आर्य, प्रदेश प्रवक्ता डॉ. सुहेली मेहता, डॉ. भारती मेहता, श्रीमती श्वेता विश्वास, श्रीमती आसमां परवीन एवं मीडिया सेल के अध्यक्ष डॉ. अमरदीप समेत सभी जिलों की समर्पित महिला कार्यकर्ता शामिल रहीं।

About Post Author

You may have missed