August 11, 2022

पूरी दुनिया में मंकीपॉक्स वायरस का हॉटस्पॉट बना अमेरिका, मामले 19 हजार के पार

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में मंकीपाक्सन के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अमेरिका के सेंटर फार डिजीज कंट्रोल के मुताबिक विश्वर के करीब 76 देशों में इसके अब तक 19 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। इनमें से 18 हजार मामले उन 70 देशों में सामने आए हैं जहां पर इसका कोई इतिहास नहीं रहा है। अमेरिका की ही बात करें तो वहां पर 27 जुलाई को इसके सबसे अधिक मामले सामने आए थे। अमेरिका में मंकीपाक्सा के 3590 मामले सामने आ चुके हैं। इसको देखते हुए इस बात की आशंका जताई जा रही है कि अमेरिका आने वाले दिनों में इस बीमारी का विश्वआ में हाटस्पा ट बन सकता है। अभी तक स्पेान में इसके सबसे अधिक मामले सामने आए हैं। यहां पर इसके मामलों की संख्याे 3738 तक पहुंच चुकी है। जर्मनी और ब्रिटेन में भी इसके 2400 से अधिक मामले सामने आ चुके हैं। फिलहाल यूरोप इससे सबसे अधिक पीडि़त है। वही व्हाधइट हाउस में कोविड-19 कार्डिनेटर ने कहा की रोकथाम के लिए इंटरनेशनल कम्यूइनिटी को साथ में आकर काम करना होगा। उन्होंने अमेरिकी नागरिकों से भी अपील की है कि वो इसको नजरअंदाज न करें और इस वायरस को गंभीरता सें लें। झा ने कहा कि अमेरिका में इसको देखते हुए मंकीपाक्सर की टेस्टिंग, वैक्सीसन और इसके ट्रीटमेंट को बढ़ाने पर जोर दिया जा रहा है।
इसके शुरुआती लक्षण
सीडीसी का कहना है कि हर कोई इसके लक्षणों से भलीभांति वाकिफ है। इसमें शरीर पर रेशेज हो जाते हैं। यही इसके शुरुआती लक्षण हैं। इसकी नई वैक्सीशन के फलस्वारूप कुछ बच्चोंत में चिकनपाक्सव भी हो सकता है। गले में दर्द, गांठ बनना, निगलने में परेशानी और दर्द होना भी इसके लक्षणों में शामिल है। सीडीसी ने कहा है कि चिकनपाक्सं के शिकार बच्चोंी को एसप्रिन देने से भी मना किया है। अमेरिका के पब्लिक हेल्थप अधिकारी का कहना है कि देश में जितने मामले मंकीपाक्सक के सामने आए हैं, उससे कहीं अधिक मामले देश में हो सकते हैं। आने वाले दिनों में टेस्टिंग के बाद इनका खुलासा भी हो जाएगा। सीडीसी के डायरेक्टमर Rochelle Walensky ने प्रेस ब्रीफिंग के दौरान आशंका व्यीक्त की है कि आने वाले दिनों में अमेरिका में तेजी से मंकीपाक्स के मामले बढ़ सकते हैं।
तीन सप्तांह में सामने आते हैं लक्षण
उन्होंने कहा कि इसके लक्षण संक्रमित होने के करीब तीन सप्‍ताह बाद दिखाई देते हैं। इसलिए इस माह में देश में अधिक मामले सामने आ सकते हैं। अमेरिका के फेडरल आफिशियल ने पुष्टि की है कि देश में सामने आने वाले मंकीपाक्से के 99 फीसद मामलों में बड़ी वजह पुरुष का पुरुष से संबंध बनाना रहा है।

You may have missed