December 6, 2022

बार-बार तारीख नहीं ले लोगों को जल्द दिलाएं न्याय : चीफ जस्टिस

आनंद केसरी/ पटना सिटी:आप वकीलों के 18 साल के संघर्ष के बाद सुकून से बैठ कर प्रैक्टिस करने का मौका मिलने वाला है। वह भी तब, जब भवन का निर्माण समय-सीमा के अंदर हो जाए। फिलहाल विभिन्न कोर्ट में अनेक केस लंबित है। इसलिए आप सभी तारीख न लेकर केस का स्टडी कर बहस करें, ताकि लोगों को जल्द न्याय मिल सके। यह बात पटना हाइकोर्ट के मुख न्यायाधीश मुकेश कुमार रसिक भाई शाह ने पटना सिटी सिविल कोर्ट परिसर में अधिवक्ताओं के लिए बनने वाले भवन का शिलान्यास करने के बाद कही।
एक करोड़ 37 लाख से बनेगामुख्य न्यायाधीश के आने पर अनेक जिला जज, एडीजे, प्रभारी एसीजेएम याफ ने स्वागत किया। सूबेदार राजेन्द्र प्रसाद सिंह के नेतृत्व में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इसके बाद चीफ जस्टिस के साथ जस्टिस रवि रंजन, हेमंत कुमार श्रीवास्तव, अश्वनी कुमार सिंह, विनोद कुमार सिन्हा, मधुरेश प्रसाद संजय कुमार और जिला जज कृष्णकांत त्रिपाठी ने शिलान्यास किया। पूजा की विधि आचार्य हरिकांत झा ने मंत्रोच्चार के बीच कराया। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष नवीन कुमार सिन्हा ने स्वागत करते हुए कहा कि हाईकोर्ट के अनुमति के बाद डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के एक करोड़ 37 लाख के फण्ड से भवन का निर्माण होना है। संचालन महासचिव संजय कुमार सिन्हा ने किया। इसके पूर्व उर्मिला मिश्र ने वंदे मातरम की प्रस्तुति दी। मुख्य न्यायाधीश, जस्टिस और जिला जज को बुके और शॉल नवीन कुमार सिन्हा, संजय कुमार सिन्हा, रामेश्वर प्रसाद-2, देवेंद्र पांडेय, डॉ राकेश कुमार, रामबाबू प्रसाद, एपीपी वासिफ हुसैन और धनुषधारी सिंह ने किया। मुख्य न्यायाधीश एमकेआर शाह ने कहा कि बनने वाला भवन का लुक बिलकुल कारपोरेट आफिस की तरह है। हम और आप सभी मिलकर लोगों को त्वरित न्याय दिलाने की दिशा में काम करें। इसके लिए लोक अदालत और मध्यस्थता का भी प्रयोग करें, ताकि मुकदमों का बोझ कम हो। लोगों को जल्द न्याय मिलेगा तो अदालत के साथ आप सबों के प्रति भी विश्वास बढ़ेगा। सिरे संसाधनों में थोड़ी असुविधा की संभावना बनी रहती है। मंच से बार काउंसिल के सदस्य योगेश चंद्र वर्मा ने भी बात कहीं। धन्यवाद ज्ञापन सत्येन्द्र मिश्रा ने किया। इस दौरान राम कुमार, मोहित जी, प्रमिला श्रीवास्तव, पूनम सिंह, कुमार रवि रंजन, प्रदीप कुमार, प्रमोद गुप्ता, अजय साह, संजीव आनंद आदि सक्रिय थे।

About Post Author

You may have missed