December 10, 2022

PATNA : बिस्कोमान के AGM बनना चाहते थे करोड़पति, शेयर ट्रेडिंग में लाखों रुपए डुबाये, कर्जदारों से बचने के लिए रच दी अपहरण की साजिश

पटना। गाँधी मैदान के पास स्थित बिस्कोमान के असिस्टेंट गोडाउन मैनेजर अविनाश राज ने अपने ही अपहरण की साजिश रच डाली। वही इसके अलावा अपने परिवार वालों से वो 20 लाख रुपए की फिरौती भी मांग रहा था। वही शुरुआती दौर में फिरौती के लिए अपहरण का मामला समझ पुलिस ने इसे बेहद गंभीरता से लिया। पिता के बयान पर गांधी मैदान थाना में FIR दर्ज किया और जांच शुरू की। वही 18 घंटे में पुलिस की टीम ने अविनाश राज को मुजफ्फरपुर में बस स्टैंड से बरामद किया गया। वही इसके बाद जब उससे पूछताछ हुई तो फर्जीवाड़े का पूरा खेल सामने आ गया।
कर्ज में लिए थे 12-13 लाख रुपए
आपको बता दे की अविनाश कम समय में अधिक रुपए कमाना चाहता था। इस कारण वो नौकरी करते हुए शेयर ट्रेडिंग का भी काम करता था। इसी चक्कर में उसने 12 से 13 लाख रुपए अलग-अलग लोगों से कर्ज ले लिया। बाद में वो रुपए डूब गए। वही इसके बाद कर्ज देने वाले अपने रुपए वापस मांगने लगे। रुपए वापस करने के लिए अविनाश के पर दबाव बनाने लगे, जिसे वो झेल नहीं पाया। रुपए वापस करने के लिए उसने अपने अपहरण की झूठी साजिश रच डाली।
पिता के द्वारा गांधी मैदान थाना में दर्ज हुई थी प्राथमिक
वही पुलिस के बताया की 22 नवंबर को अविनाश बिस्कोमान भवन के ऑफिस से निकलकर पटना स्टेशन चला गया। फिर वहां से ट्रेन पकड़कर पंडित दिन दयाल उपाध्याय स्टेशन चला गया। जब वो ट्रेन में था तभी अपने मोबाइल से पत्नी के मोबाइल पर एक मैसेज किया। अपहरण की बात कह फिरौती की रकम अपने ही अकाउंट में भेजने को कहा। तब उसी दिन रात में 10:30 बजे अविनाश के पिता गांधी मैदान थाना पहुंचे। पुलिस को जानकारी दी। वही कंप्लेन मिलते ही पुलिस ने अपनी जांच शुरू की। जब अविनाश के मोबाइल का टावर लोकेशन खंगाला तो सबसे पहले मुगलसराय मिला। वही इसके बाद पटना से पुलिस की एक टीम भी तुरंत वहां भेज दी गई। लेकिन चंद घंटों में अविनाश वहां से निकल गया। वही 23 नवंबर की सुबह उसका लोकेशन हाजीपुर मिला। इसके बाद दोपहर में वो मुजफ्फरपुर चला गया। इसके बाद पुलिस की टीम वहां गई और बस स्टैंड के पास से बरामद कर लिया। पुलिस के अनुसार रुपए डूबने और कर्ज देने वालों के दबाव की वजह से वो डिप्रेशन का शिकार हो गया। इसी कारण से उसने अपहरण की झूठी साजिश रची। पुलिस ने अविनाश को उसके परिवार के हवाले कर दिया है।

About Post Author

You may have missed