December 8, 2022

निर्दोषों और बेकसूरों की रिहाई के लिए पूर्व सांसद ने तैयार की जमीन

पूर्णिया। पूर्व लोकसभा सांसद उदय सिंह ने समाज में बढ़ते अपराधीकरण पर अंकुश लगने और जेल सुधारों को लेकर महत्वपूर्ण पहल की है। पूर्व लोकसभा सांसद ने निर्दोषों और बेकसूरों की जेल से रिहाई की जमीन तैयार कर दी है। उदय सिंह का कहना है कि ज्यादातर निर्दोष या बेकसूर लोग जमानत के लिए पैसे न होने पर जेलों में सड़ते रहते हैं। वह गरीब होने के कारण अपने केस की पैरवी के लिए वकील भी नहीं नियुक्त कर पाते। उन्होंने कहा कि झूठे केस में फंसाए गए बेकसूरों की जेल से तुरंत रिहाई होनी चाहिए। गरीबों को इंसाफ दिलाने के लिए पूर्णिया लोकसभा विकास परिषद के अधीन अधिवक्ताओं की स्थायी कमिटी बनाई जाएगी, जो अधिकतर ऐसे मामलों को हाथ में लेगी, जिसमें बिना किसी कसूर के लोगों को जेल में डाल दिया गया है। यह कमिटी उन लोगों को भी न्याय दिलाएगी, जो अपने अपराध की सजा भुगत चुके हैं और बाहर निकलने लायक हैं। पूर्व लोकसभा सांसद उदय ने कहा, अक्सर मुझे जहां-तहां यह सुनने को मिलता है, हमें झूठे केस में फंसा दिया गया है। यह कहना उचित होगा कि समाज में सब कुछ रामराज्य की तरह नहीं चल रहा है। गरीब, निर्दोष, बेबस, असहाय और लाचार लोगों को दबंग लोग झूठे मुकदमों में फंसा देते है। उन्होंने कहा कि अधिवक्ताओं की यह कमिटी ऐसे निर्दोष लोगों के मामले अपने हाथ में लेगी, जो वकीलों की फीस देने की क्षमता न होने के कारण अपने लिए वकील नहीं कर पाते। वकीलों की यह कमिटी गरीब, असहाय और लाचार लोगों के मामलों को अपने हाथ में लेगी और उन्हें इंसाफ दिलाने के लिए यथासंभव प्रयत्न करेगी। पूर्व सांसद ने भरोसा जताया कि जेल सुधारों के लिए उनकी ओर से उठाए गए कदमों का सुखद नतीजा निकलकर सामने आएगा। असहाय लोगों को तुरंत न्याय दिलाया जा सकेगा।

About Post Author

You may have missed