December 8, 2022

शिक्षा की प्रकृति रचनात्मक होती है : डाॅ. सुशील

धनंजय कुमार शर्मा की रिपोर्ट

सीवान/आंदर। आंंदर प्रखण्ड के राजकीय मध्य विद्यालय, पतार में सृजनधारा संगठन द्वारा ग्रामीण प्रतिभा खोज प्रतियोगिता का आयोजन आगामी 11 नवम्बर (रविवार) को किया जायेगा। यह जानकारी सृजनधारा के अध्यक्ष एवं प्रतियोगिता के आयोजक डाॅ. सुशील नारायण तिवारी ने दी। डाॅ. तिवारी ने कहा कि शिक्षा की प्रकृति रचनात्मक होती है, जो हमेशा हमारे भविष्य का निर्माण करती है। इसे ही ध्यान में रखते हुए ग्रामीण क्षेत्र की प्रतिभाओं को सामने लाने और उनमें प्रतियोगी परीक्षाओं की समझ विकसित करने के उद्देश्य से यह प्रतियोगिता करायी जा रही है। संगठन के महामंत्री प्रशान्त कुमार सिंह ने कहा कि इस प्रतियोगिता में विभिन्न विद्यालयों में पढनेवाले सातवीं एवं आठवीं कक्षा के छात्र-छात्राएं प्रतिभाग कर सकेंगें। श्री सिंह ने कहा कि प्रतियोगिता में संबंधित वर्ग के पाठ्यक्रम – संस्कृत, हिन्दी, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान एवं गणित तथा समसामयिक विषयों से कुल 50 वस्तुनिष्ठ प्रश्न पूछे जायेंगें। मौखिक परीक्षा के आधार पर परिणाम घोषित किये जायेंगें। सफल प्रतिभागियों को विख्यात पत्रकार एवं जानेमाने समाजसेवी प्रताप शेखर सिंह 14 नवंबर बाल दिवस के शुभ अवसर पर पुरस्कृत करेंगें।

About Post Author

You may have missed