इंडिया गठबंधन की बैठक में सभी बातें साफ होगी, हमारे साथ वहां सभी दलों के नेता मौजूद रहेंगे: मुख्यमंत्री

  • इंडिया गठबंधन की बैठक में ना शामिल होने पर नीतीश ने तोड़ी चुप्पी, बोले- यह सब बकवास बातें हैं, कुछ लोग बेमतलब की खबर चला रहे
  • कांग्रेस पर बोले नीतीश, कहा- कांग्रेस को भी कम वोट नहीं आया है अच्छा ही वोट आया है

पटना। चार राज्यों में विधानसभा चुनाव के परिणाम में कांग्रेस की करारी हार के बाद इंडिया गठबंधन के भविष्य पर सवाल उठने लगे हैं। राजनीति के जानकारी ऐसा बता रहे हैं कि विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की जीत के कारण इंडिया गठबंधन को मुहं की खानी पड़ी और इसके बाद अब इंडिया गठबंधन के अन्य घटक दल भी कांग्रेस को आंख दिखाने में लगे हुए हैं। इंडिया गठबंधन की आगामी मीटिंग जो की 6 दिसंबर को निर्धारित की गई थी उसे क्षेत्रीय दलों की व्यस्तता के कारण रद्द कर दिया गया। अब इसी कड़ी में बिहार के मुख्यमंत्री और विपक्षी एकता के सूत्रधार माने जाने वाले नीतीश कुमार ने भी कांग्रेस की हार के बाद पहली प्रतिक्रिया दी है। दरअसल नीतीश कुमार बीते कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। जिसके कारण उन्होंने सामाजिक तथा प्रशासनिक कार्यों से दूरी बना रखी थी सरकार के कार्यक्रमों में भी वह हिस्सा नहीं ले रहे थे इसी कड़ी में बुधवार को बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के पुण्यतिथि के अवसर पर कार्यक्रम में पहुंचे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लंबे समय के बाद पत्रकारों से बातचीत की। पत्रकारों से बातचीत करते हुए नीतीश कुमार ने बताया कि जब हम बीमार थे तो हम बराबर अखबार पढ़ रहे थे अखबार में लोग छाप रहे थे कि हम इंडिया गठबंधन की मीटिंग में नहीं जा रहे हैं यह सब फिजूल की बातें हैं। हमने तो आपको पहले ही बता दिया कि हमारी प्रबल इच्छा है कि देश के सभी दल एक साथ आए और आगे चुनाव भी एक साथ लड़े जब कभी भी अगली मीटिंग होगी तो हम जरूर जाएंगे। यह सब उन लोगों का किया धरा है जो नहीं चाहते कि देश के सभी विपक्षी दल एक साथ आए हमारी कोई महत्वाकांक्षा नहीं हम तो बस चाहते हैं कि अधिक से अधिक दल मिलकर काम करें। हम तो बार बार बोल रहे हैं कि हमको कुछ नहीं चाहिए। हम तो बस इतना बोल रहे हैं कि सबलोग एक साथ काम में लगिए। मेरे जाने की बात रही तो हमको सर्दी -खांसी,बुखार गो गया था इसलिए कहीं जा नहीं रहे थे बाकी हम तो शामिल होंगे ही इंडिया गठबंधन की मीटिंग में इसमें कहां कोई बात है।
हमारे व्यक्तिगत कोई महत्वाकांक्षा नहीं, हम तो चाहते हैं कि सब लोग मिलकर काम करें
वही सीएम नीतीश से जब यह सवाल किया गया कि देश की मांग है आप नेतृत्व करें तो इसके जब आपने उन्होंने कहा कि -नहीं यह सब बेकार है। हमारी नहीं राय है। हम नहीं ई सब चाहते हैं। अब कोई जो बोलना चाहता है तो बोले। हम तो चाहते हैं कि सबलोग साथ आकार काम करें। इसके अलावा जब उनसे सवाल किया गया कि इंडिया गठबंधन में रीजनल पार्टी की क्या भूमिका होनी चाहिए तो नीतीश कुमार ने कहा कि इसको लेकर आपस में बैठक कर बातचीत की जानी चाहिए। लेकिन अभी कुछ भी करना उचित नहीं ना होगा। मीटिंग होगा तो उसमें यह सब चीज कहीं जाएगी मीटिंग के बाद सब चीज आपको बता भी दिया जाएगा। हम तो सबको कह रहे हैं की बहुत अच्छे ढंग से तेजी से काम कीजिए। हम तो शुरू से सभी लोगों को यह बता रहे हैं कि अब ज्यादा देर करना ठीक नहीं लोकसभा चुनाव में केवल एक साल का समय बचा है और जैसा कि आप लोग देख रहे हैं कि यह लोग समय से पहले भी लोकसभा चुनाव कराने की तैयारी में है इसलिए अब हम सभी को मिलकर आगामी रणनीति के लिए मिलकर योजनाएं बननी चाहिए जिससे सभी लोग एक साथ मिलकर लड़ेंगे और बहुत अच्छा रिजल्ट आएगा।
कांग्रेस पर बोले नीतीश, कहा- कांग्रेस को भी कम वोट नहीं आया है अच्छा ही वोट आया है
वहीं नीतीश कुमार ने विधानसभा के परिणामों को लेकर कहा कि हम तो शुरू से कह रहे हैं कि जल्द से जल्द मीटिंग हो और सभी दलों को उनके काम बता दिए जाएं लेकिन कांग्रेस के लोग विधानसभा चुनाव में व्यस्त थे इस कारण इंडिया गठबंधन का कोई काम आगे नहीं बढ़ पा रहा था लेकिन अब सब मिलकर काम करेंगे। इंडिया गठबंधन में सभी दलों की बड़ी भूमिका है इस बात में कोई दो राय नहीं अब सभी चीज ठीक हो जाएगी और हम लोग जनता के बीच जाने का काम करेंगे। वहीं पांच राज्यों के चुनाव में कांग्रेस की तीन राज्य में हुई हर पर नीतीश कुमार ने कहा कि हर राज्य को अपना अधिकार है मतदान करने का। पिछले बार देखे नहीं कांग्रेस वाला कई जगह जीता था इस बार भी मान लीजिए एक जगह तो जीत हुई है ना। कांग्रेस को भी कम वोट नहीं आया है अच्छा ही वोट आया है। इसलिए इन सब चीजों पर कोई खास चर्चा नहीं है। हार जीत तो होते रहता है। उधर, अमित शाह के आगमन पर नीतीश कुमार ने कहा कि यह तो पुराना काम रहा है। इसमें हम शामिल होंगे ही। अमित शाह आ रहे हैं तो अच्छी बात है। हम जाएंगे उस मीटिंग में शामिल होंगे उसमें कोई बात थोड़े न है। बैठक है अमित शाह आ रहे हैं ये अच्छी बात है। ये सब तो चलते ही रहता है।

About Post Author

You may have missed