February 26, 2024

गांधी मैदान में सीएम नीतीश ने 26 हजार शिक्षकों को दिया नियुक्ति पत्र, तेजस्वी समेत कई मंत्री रहें मौजूद

  • मुख्यमंत्री बोले- हमलोग 10 लाख से अधिक सरकारी नौकरी देंगे, नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मी का दर्जा जल्द मिलेगा

पटना। बिहार में दो महीने 10 दिन बाद फिर 96 हजार 823 कैंडिडेट्स को शिक्षक नियुक्ति पत्र बांटा गया। गांधी मैदान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोग जल्द ही नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मी का दर्जा देने जा रहे हैं। इसके लिए जल्द ही परीक्षा का आयोजन करवाया जाएगा। जल्द ही इस प्रक्रिया को पूरा करेंगे ताकि सब सरकारी शिक्षक हो जाएंगे। उन्होंने कहा, आप देख रहे हैं कितनी बड़ी संख्या में सरकारी नौकरी में बहाली हो रही है। 3.60 लाख से अधिक बहाली हो गई है। जल्द यह 5 लाख भी पूरा होगा। 10 लाख से अधिक सरकारी नौकरी देंगे। हमलोग काम में लगे हुए हैं, जो भी होगा बहुत तेजी से काम होगा। सीएम ने कहा कि 51 फीसदी महिलाओं की नियुक्ति हुई है। यहां भी महिलाओं की संख्या बहुत ज्यादा है। सीएम ने कहा, दो महीना पहले ही 1 लाख 20 हजार शिक्षकों को नियुक्ति पत्र दिया गया था। हमने तो शुरू से ही कहा था कि इस भर्ती प्रक्रिया में बिहार और बिहार से बाहर के भी अभ्यर्थियों की बहाली होगी। बिहार से बाहर के राज्यों में भी तो छात्रों की नौकरी होती है। उन्होंने कहा कि बिहार में बच्चों की पढ़ाई बेहतर करना है। सीएम ने 26 हजार 925 को पटना के गांधी मैदान में नियुक्ति पत्र सौंपा। वहीं, अन्य शिक्षकों को 26 जिलों में जिला मुख्यालय स्तर नियुक्ति पत्रों का वितरण किया गया। नियुक्ति वितरण समारोह में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर, ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव और विजय चौधरी भी पहुंचे हैं। 16 जिलों के 26 हजार शिक्षकों को 640 बसों से पटना लाया गया है। इसी वजह से गांधी मैदान आने-जाने वाले मार्गों पर भारी वाहनों का रूट डायवर्ट किया गया है। इसके अलावा पूर्णिया, रोहतास, सहरसा, सीवान, सुपौल, सीतामढ़ी, पश्चिमी चंपारण, अररिया, बांका, भागलपुर, गया, गोपालगंज, जमुई, कैमूर, कटिहार, खगड़िया, किशनगंज, मधेपुरा, मधुबनी, मुंगेर व नवादा में नियुक्ति पत्र वितरण समारोह आयोजित किया गया। जहां जिला अधिकारी द्वारा उन्हें नियुक्ति पत्र सौंपा जा रहा है।
जदयू-राजद की सरकार ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का काम किया है : तेजस्वी यादव
डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने कहा, जदयू-राजद की सरकार ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का काम किया है। 70 दिनों में 2 लाख से ज्यादा शिक्षकों को नौकरी मिली है। नीतीश कुमार ने नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मी के दर्जा देने का भी काम किया। तेजस्वी यादव ने कहा, नीतीश कुमार ने नियोजित शिक्षकों को राज्य कर्मी के दर्जा देने का भी काम किया। सरकार का यह मॉडल है, पढ़ोगे तो भी नौकरी मिलेगी और खेलोगे तो भी नौकरी मिलेगी। ऊर्जा मंत्री बिजेंद्र यादव ने कहा, बिहार ने इतिहास रचने का काम किया है। इतनी बड़ी नियुक्ति शिक्षा विभाग में हुई है। वित्त मंत्री विजय चौधरी ने कहा, नई सरकार गठन के बाद इसी गांधी मैदान से मुख्यमंत्री ने कुछ महीने पहले यह घोषणा की थी की 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी देंगे। पिछले कुछ महीनों में 2 लाख से अधिक शिक्षकों की नियुक्ति हुई है। शिक्षा मंत्री चंद्रशेखर ने कहा, बिहार परिवर्तन की भूमि है। शिक्षा के क्षेत्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जो काम किए हैं वह देशभर में नजीर बनी है। कुछ लोग नफरत बांटने में लगे हुए है और हम लोग नियुक्ति पत्र बांट रहे है। उन्होंने कहा कि पूरा देश क्या, पूरी दुनिया में कही भी एक लाख नियुक्ति पत्र नहीं दिया गया है। सभी जिलों से करीब 640 बसों से शिक्षकों को पटना लाया गया है। पटना, वैशाली, सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, शिवहर, जमुई, लखीसराय, मुंगेर, बेगूसराय, खगड़िया, नालंदा, गया, और जहानाबाद से कुल 333 बसों से गांधी मैदान तक लाया गया। गांधी मैदान को चार सेक्टरों में बांटकर सुरक्षा के लिए 60 मजिस्ट्रेट के साथ 700 से अधिक जवानों को तैनात किया गया है। कार्यक्रम की ड्रोन से फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की जा रही है। शुक्रवार की देर शाम प्रमंडलीय आयुक्त कुमार रवि और आईजी गरिमा मलिक ने गांधी मैदान का निरीक्षण किया था।

 

About Post Author

You may have missed