December 5, 2022

छपरा जहरीली शराबकांड से हो रही मौतों पर फूटा ग्रामीणों का आक्रोश : आगजनी कर सड़क पर किया प्रदर्शन, पुलिस से हुई हाथापाई

छपरा। बिहार में छपरा के मकेर में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत के बाद शुक्रवार को ग्रामीणों का आक्रोश फूट पड़ा। ग्रामीणों ने सोनहो चौक पर आगजनी कर सड़क के आवागमन को बाधित कर दिया। साथ ही लोगों ने पुलिस से भी हाथापाई की। डीएसपी इंद्रजीत बैठा पर डंडा तान दिया। ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस प्रशासन की लापरवाही के कारण लोगों की मौत हुई है। जानकारी के अनुसार, सैकड़ों की संख्या में उपस्थित ग्रामीण छपरा मुजफ्फरपुर NH-722 और सीवान-शीतलपुर SH-73 को जाम कर दिया। लोगों ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग और जिला प्रशासन शराब पीने से बीमार लोगों के इलाज में लापरवाही बरत रही है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इलजरत लोगों का देखभाल नहीं किया जा रहा है। इससे मौत की संख्या लगातार बढ़ रही है।

वही छपरा सदर अस्पताल और पटना पीएमसीएच में इलाज के नाम पर सभी लोगों के साथ खानापूर्ति और घोर लापरवाही की जा रही है। इसके साथ-साथ परिजनों का कहना है कि गंभीर रूप से पीड़ित लोगों को निजी अस्पताल में इलाज के लिए भी नहीं जाने दिया जा रहा है। इससे उनकी मौत हो रही है। आक्रोशित लोगों ने दो मुख्य सड़क को जोड़ने वाले चौक पर आगजनी कर पूर्ण रूप से आवागमन बाधित कर दिया। हंगामा और जाम को हटाने पहुंची पुलिस टीम से भी आक्रोशित ग्रामीणों ने हाथापाई की। आक्रोशित महिलाएं मढ़ौरा डीएसपी इंद्रजीत बैठा के साथ धक्कामुक्की पर उतारू हो गई। हालांकि स्थानीय जनप्रतिनिधियों की पहल पर महिलाएं शांत हुईं। वही आक्रोशित यह मांग कर रहें थे की जहरीली शराब में संलिप्त कारोबारियों को जल्द किया जाए।

About Post Author

You may have missed