November 26, 2022

पटनावासी आज से करें होमोजिनाइज्ड आशीर्वाद स्वस्ति पाउच दूध का सेवन

आईटीसी ने लांच किया ‘आशीर्वाद स्वस्ति’ पाउच दूध, जानिए मंत्री जय कुमार सिंह ने क्या कहा….

संतोष कुमार/पटना। आईटीसी ने पटना के होटल मौर्या में अपने अलग-अलग होमोजिनाइज्ड आशीर्वाद स्वस्ति पाउच दूध की शुरूआत की। राजधानी में ब्रांड उपस्थिति के विस्तार की घोषणा आईटीसी के संचालन के 108 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में की गई। आशीर्वाद स्वस्ति दूध शहर भर में खुदरा दुकानों पर 500 मि.लि. के सुविधाजनक पैक आकार में 19 रुपये और 1 लीटर पैक 38 रुपये की कीमत पर उपलब्ध होगा। कार्यक्रम का उद्घाटन उद्योग मंत्री जय कुमार, आईटीसी लिमिटेड के सीईओ संजय सिंगल, चैम्बर आॅफ कामर्स के पूर्व अध्यक्ष ओपी शाह, विस्कोमान के उपाध्यक्ष गोपाल गिरी और प्रभात कुमार ने संयुक्त रूप से द्वीप प्रज्जवलित कर किया।
इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उद्योग मंत्री जय कुमार सिंह ने कहा कि आने वाले समय में बिहार में फूड प्रोजेक्ट की स्थापना की जाएगी। भूमि के लिए विभाग लगा हुआ है और पूरी उम्मीद है कि दो साल में फूड प्रोजेक्ट शुरू हो जाएगी। राज्य सरकार वैसे उद्योगों पर ध्यान केंद्रित कर रही है, जो रॉ मेटिरियल पर आधारित हो ताकि बिहार के लोगों को यहां आसानी से रोजगार उपलब्ध हो सके। उन्होंने कहा कि जिसमें बाजार की संभावनाएं दिखेंगी, सरकार उसी राह पर चलेगी। उन्होंने कहा कि आईटीसी बिहार को राज्य में अमूल्य निवेश कर रही है और 350 गांवों के लगभग 11000 किसानों को आजीविका देने के लिए उनके साथ काम कर रही है।

वहीं आईटीसी लिमिटेड के सीईओ संजय सिंगल ने कहा आईटीसी ने इस साल की शुरूआत में मुंगेर और भागलपुर में आशीर्वाद स्वस्ति होमोजिनाइज्ड दूध के लांच के साथ प्रवेश किया था। अपनी पेशकश के लिए उपभोक्ताओं से बेहद उत्साहजनक प्रतिक्रिया प्राप्त करने के बाद आईटीसी अब राजधानी में आशीर्वाद स्वस्ति पाउच दूध की उपस्थिति बढ़ा रही है। इस उत्पाद के लांच के साथ पटना में भी उपभोक्ता अब बेहतर स्वाद वाली चाय और गाढ़ी दही का आनंद ले सकते हैं। इसकी शुद्धता सुनिश्चित करने के लिए आईटीसी आशीर्वाद स्वस्ति दूध पांच चरण की गुणवत्ता जांच से गुजरता है। आईटीसी आशीर्वाद स्वस्ति दूध होमोजिनाइजेशन प्रक्रिया से गुजरता है, जो क्रीम आमतौर पर (मलाई के नाम से प्रसिद्ध) को सतह पर जमाने के बजाय दूध को स्वाद में समृद्ध बनाने के लिए समान रूप से दूध में वितरित करता है।

About Post Author

You may have missed