November 26, 2022

मुजफ्फरपुर एसएसपी पर पप्पू यादव का सनसनीखेज आरोप, जाने…

मुजफ्फरपुर एसएसपी के खिलाफ पप्पू जायेंगे हाईकोर्ट, स्पीकर से भी करेंगे शिकायत
भारत बंद के दौरान रेल चक्का जाम करेगी जापलो

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय संरक्षक सह सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने 6 सितंबर को सवर्णों के बंद के दौरान उनपर हुए हमले में मुजफ्फरपुर एसएसपी के शामिल होने का आरोप लगाया। पटना में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि उस दिन मेरी हत्या की पूरी साजिश थी, जिसमें एसएसपी भी शामिल थीं। क्योंकि घटना मुजफ्फरपुर के खबरा में हुई और एसएसपी ने चंद्रहटी का वीडियो दिखाकर मामले से पल्ला झाड़ने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि हमले के वक्त हमने एसएसपी, आईजी और मुख्यमंत्री के पीए को इस बाबत जानकारी देने की कोशिश की, मगर एसएसपी ने इस पर कोई एक्शन नहीं लिया। बाद में कहा कि हमला हुआ ही नहीं। इसलिए हम इस मामले को लेकर कल हाईकोर्ट जायेंगे और लोकसभा स्पीकर से भी शिकायत करेंगे। साथ ही एसएसपी पर दो करोड़ के मानहानि का मुकदमा और उनके खिलाफ सांसद के विशेषाधिकार का भी प्रयोग करेंगे।
सांसद ने कहा कि मेरे आंसू बिहार के लोगों के लिए थे। हम बिहार की जनता के लिए जीते हैं, सत्ता के लिए नहीं। इसलिए हम राजद और जदयू के उन बयानवीरों पर भी 10-10 करोड़ के मानहानि का मुकदमा करेंगे, जो रंगेसियार की तरह सिर्फ बयानबाजी करते हैं। पप्पू यादव ने हमले की तस्वीर, मैसेज और एसएसपी द्वारा जारी वीडियो को दिखाते हुए कहा कि हमने पांच बार एसएसपी को मैसेज भेजा। मैंने उनको लिखा कि गोली चलने की नौबत है। मगर उनका कोई रिस्पांस नहीं आया। सांसद ने पूछा कि अगर हमला नहीं हुआ, तो उन्होंने दो लोगों पर कार्रवाई क्यों की? उन्होंने एसएसपी पर मुजफ्फरपुर शेल्टर होम के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की सहायता करने का भी आरोप लगाया। एसएसटी एक्ट पर सांसद ने कहा कि 19 साल में जब एसएसटी एक्ट पर कोई सवाल नहीं उठा तो आज अचानक क्यों इस पर बवाल है। पप्पू यादव ने कहा कि हम गरीब सवर्णों के आरक्षण की मांग में उनके साथ हैं। हम मांग करते हैं कि सरकार जातिगत जनगणना को सार्वजिनक करे और इसी आधार पर जनसंख्या को तय कर आरक्षण और राजनीति में भागीदारी सुनिश्चित करे।
संवाददाता सम्मेलन को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने भी संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पार्टी के कोर कमेटी ने इस पूरे घटना क्रम की घोर निंदा करती है और इसकी उच्च स्तरीय जांच की मांग भी करती है। ताकि सांसद को जान से मारने के इस षड़यंत्र का पर्दाफाश हो सके। संवाददाता सम्मेलन में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अखलाक अहमद, एजाज अहमद, राघवेंद्र कुशवाहा, प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, अवधेश कुमार लालू भी मौजूद रहे।

About Post Author

You may have missed