December 6, 2022

उपद्रव करने के मामले में छह दिनों बाद भी मुख्‍य आरोपी फरार, कुर्की वारंट निर्गत

मंगलवार को चस्पा किया जाएगा घरों पर इश्‍तेहार- एसडीपीओ

मसौढी। बीते मंगलवार को एक गुट द्वारा एक किशोर को गोली मारने के बाद दो गुटों के बीच पनपे विवाद के दौरान किए गए उपद्रव के मामले में छह दिन बीते जाने के बाद भी पुलिस अपने लाख प्रयासों के बाबजूद भी दोनों गुटों के मुख्‍य आरोपितों को अबतक गिरफ्तार करने में नाकाम रही है। इधर पुलिस ने उनपर दबिश डालने के लिए उनके खिलाफ आगे की कारवाई शुरू कर दी है। गौरतलब है कि मंगलवार की घटना के आलोक में आरोपितों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने के लिए एक छापेमारी टीम गठित की गई थी। गठित छापेमारी टीम ने मामले के नामजद कुल 81 आरोपितों व 300 अज्ञात आरोपितों में से अब तक पंद्रह आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। लेकिन मामले के दोनों गुटों के मुख्‍य आरेपितों को पुलिस छह दिन बीत जाने के बाद भी गिरफ्तार करने में विफल रही है। मुख्‍य आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होने से किसी अनहोनी को लेकर लोगों में आशंका व्‍याप्‍त है। इधर एसडीपीओ सोनू कुमार राय ने बताया कि छापेमारी टीम मुख्‍य आरोपितों समेत अन्‍य आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर उनके घरों समेत उनके रिश्‍तेदारों के यहां भी दबिश डाल रही है। लेकिन वे फरार हैं। उन्‍होंने बताया कि उपद्रव में शामिल फरार मुख्‍य आरोपितों समेत अन्‍य आरोपितों के खिलाफ न्‍यायालय से कुर्की वारंट भी हासिल कर लिया गया है। मंगलवार को उनके घरों पर इश्‍तेहार भी चस्पा दिया जाएगा। उसके बाद भी अगर वे समर्पण नहीं करते हैं तो उनके घरों की कुर्की जब्‍ती की जाएगी।

पुलिस ने किया फ्लैग मार्च: बीते मंगलवार को घटित घटना के आलोक में लोगों के बीच प्रशासन के प्रति विश्‍वास बनाए रखने को लेकर रविवार की देर शाम पुलिस ने नगर में फ्लैग मार्च किया। उक्‍त मार्च स्‍थानीय थाना के पास से शुरू होकर मेन रोड होते हुए अनुमंडल कार्यालय समेत अन्‍य मोहल्‍लों में गया। इस मार्च में जिला पुलिस बल के अलावे दंगा निरोधक बल भी शामिल था।

About Post Author

You may have missed