जदयू का तेजस्वी पर बड़ा हमला, कहा- उन्होंने लालू यादव को राजनीतिक नजरबंद किया, जनता जवाब देगी

पटना। लोकसभा चुनाव का समय जैसे-जैसे बीतता जा रहा है राजनीतिक बयानबाजी और वार-पलटवार का दौर भी लगातार जारी है। बिहार में एनडीए गठबंधन के लोग लालू प्रसाद यादव को नजरबंद किए जाने का मामला जमकर उठाए हुए हैं। लालू प्रसाद यादव  को राजनीतिक रूप से नजरबंद किए जाने के मामले पर जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने शनिवार को तेजस्वी यादव से सवाल पूछा है। उन्होंने कहा है कि तेजस्वी यादव ये बताएं कि आपने लालू प्रसाद को राजनीतिक रूप से नजरबंद क्यों कर दिया है। नीरज कुमार ने आगे कहा है कि इंडिया गठबंधन के सहयोगी दल कांग्रेस, सीपीआई, सीपीआई को हेलीकॉप्टर पर ना चढ़ने देना, क्या वे लोग राजनीतिक रूप से अछूत हैं। नीरज कुमार ने लालू प्रसाद यादव पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्हें ये स्पष्ट करना चाहिए कि अपनी बेटी के लिए तो लालू प्रसाद जी को समय है, स्वास्थ्य उनका ठीक हो जाता है, लेकिन हाजीपुर में अगर दलित समुदाय का व्यक्ति चुनाव लड़ रहा है, बुजुर्ग व्यक्ति अवध बिहारी चौधरी जी लड़ रहे हैं, दूसरे अति पिछड़ा और दलित समाज के नेता चुनाव लड़ रहे हैं तो लालू यादव के पास समय नहीं है। नीरज कुमार ने कहा लालू यादव क्या सहयोगी दल और अति पिछड़ों और दलितों का राजनीतिक संहार करना चाहते हैं, उनको  नरसंहार से पेट नहीं भरा है तो अब राजनीतिक संहार तो तय है और राजनीतिक संहार करने के लिए तेजस्वी यादव उस योजना में शामिल हैं। लालू यादव इन दिनों अपनी बीमारी को लेकर रैलियों में कम ही निकल रहे हैं, हालांकि कि वो अपनी बेटियों के चुनाव प्रचार के लिए जाते हैं। इसी पर जेडीयू के प्रवक्ता ने उन पर निशाना साधा है। नीरज कुमार ने तेजस्वी यादव पर उन्हें राजनीतिक तौर पर नजरबंद करने का आरोप लगाया है। इससे पहले नीरज कुमार ने लालू यादव पर हमला करते हुए कहा था कि जमीन के मामले में उन्होंने अपने सगे संबंधियों को भी नहीं छोड़ा है। लालू यादव के पास आज करोड़ों की जमीन है। लालू यादव पटना के सबसे बड़े जमींदार हैं।

About Post Author

You may have missed