रिसेप्शन से लौट रहा परिवार हुआ हादसे का शिकार, एक झटके में उजरा सैलून संचालक का परिवार

  • ट्रक ने ऑटो सवार सैलून संचालक उसकी पत्नी और बेटी को कुचला, तीनो की मौत, तीन अन्य घायल

फुलवारीशरीफ, (अजीत) पटना के मनेर में पेट्रोल पंप के पास हाईवे पर देर रात एक ऑटो को जोरदार धक्का मार कर ट्रक फरार हो गया। इस हादसे में ऑटो पर सवार एक परिवार के तीन लोग पति पत्नी और बेटी की दर्दनाक मौत हो गई। हादसे में एक झटके के साथ ऊजर गया ऑटो सवार संपतचक के रहने वाले सैलून चलने वाले मनोज शर्मा का परिवार। हादसे ने मनोज शर्मा 38 साल ,पत्नी अनीता देवी 32 साल और बेटी जाह्नवी 09 साल की जिंदगी छीन छीन ली। इसके अलावा इसी ऑटो पर सवार किसी परिवार के तीन सदस्य गंभीर रूप से घायल हो गए जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है। दुर्घटना में मनोज उसकी पत्नी और बेटी की मौत की खबर जैसे उनके घर पटना के संपतचक पहुंचा परिवार में कोहराम मच गया।मनेर से लेकर पटना के संपतचक रिश्तेदार परिजन दहाड़ मार कर विलाप करने लगे।रोते बिलखते परिजन मनेर के लिए रवाना हुए। फिर वहां से पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल पहुंचे। परिवार वालों की हालत पागलों सी हो गई थी, समझ में नहीं आ रहा था कि घायलों का इलाज कराने जाए कि जिनकी मौत हो गई है उनके शव को देखने जाएं। इस दर्दनाक हादसे की जानकारी मिलने पर संपतचक के नगर परिषद अध्यक्ष अमित कुमार अध्यक्ष प्रतिनिधि ऋषभ राय बंटू अन्य लोगों के साथ परिवार वालों को संतावना देने पटना के पीएमसीएच पहुंचे, जहां परिवार के तीनों मृत सदस्यों माता-पिता और बेटी के शव का पोस्टमार्टम कराया गया। नगर परिषद अध्यक्ष ने परिवार को हर संभव सहायता दिलाने का आश्वासन देते हुए कहा कि घटना अत्यंत दुखद है। उन्होंने बताया कि संपतचक में गोपालपुर थाना के पीछे मनोज शर्मा का घर है। संपतचक में मनोज शर्मा सैलून चलाकर अपने परिवार के भरन पोषण करते थे। इनकी भतीजी की शादी हुई है। भतीजी के रिसेप्शन समारोह में शामिल होने अपने परिजन के साथ मनेर गए थे।ऑटो रिजर्व कर वहां से वापस लौट रहे थे तभी पेट्रोल पंप के सामने ट्रक ने धक्का मार दिया उसमें मनोज शर्मा पत्नी अनीता देवी और बेटी जाहन्वी की मौत हो गई जबकि मनोज शर्मा का भतीजा पिंटू शर्मा उसकी पत्नी अंजना और बहनोई कृष्ण शर्मा जख्मी हो गए।घायलों का इलाज अस्पताल में चल रहा है।ऑटो पर सवार परिवार के साथ गोद में रहे दो छोटे-छोटे बच्चे को मामूली चोट आई है और बाल बाल बच गए। मनोज शर्मा के दो छोटे बेटे भी हैं जिनका रो-रो कर बुरा हाल हो रहा था। एक साथ ही उनके माता-पिता और बहन को हादसे ने मौत के गाल में पहुंचा दिया था।

About Post Author

You may have missed