पटना में पांच सूत्री मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए DRCC कर्मी, स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना ठप 

पटना। पांच सूत्री मांगों को लेकर हड़ताल पर गए जिला निबंधन परामर्श केंद्र कर्मी। वही अब अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं। बता दे की 14 मार्च से कार्य बहिष्कार कर रहे कर्मियों ने 4 दिनों तक अपनी मांगों के समर्थन में राज्य के सभी 38 जिलों में विरोध जताया। हालांकि उनकी मांगों पर नीतीश सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो शनिवार से सभी कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए। वही रोहतास के जिलाध्यक्ष राधेकृष्ण ने बताया की सरकार और विभाग द्वारा कर्मियों की कोई सुझाव अभी तक नहीं लिए जाने के कारण अब राज्य भर के सभी कर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने को विवश हैं। विगत 4 दिनों से राज्यभर मे स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, भत्ता योजना एवं कुशल युवा कार्यक्रम योजना का कार्य ठप है। योजनाओं का लाभ लेने जिले भर से आये छात्र-छात्राएं कार्यालय से परेशान होकर लौट रहें हैं। संयोजक सोनी कुमारी ने कहा कि हमारी मांगे जायज हैं। 3 महीने पूर्व भी वार्ता के लिए बुलाया गया था, हमारी मांगों के समर्थन में विभागीय पत्र और अन्य दस्तावेज प्रस्तुत करने कहा गया जो हमने विभाग को उपलब्ध कराया, फिर भी विभाग उदासीन बना रहा और उनके तानाशाही रवैये को देखते हुए हम हड़ताल पर जाने को मजबूर हैं।

वही मांगों के बारे में पूछे जाने पर केशव कन्हैया ने बताया की उच्च स्तरीय समिति की अनुशंसा प्रभावी करने का आदेश 2018 मे सरकार ने दिया है, लेकिन विभाग द्वारा टाल-मटोल किया जा रहा है। लागू करने के लिए एक अन्य आंतरिक समिति का गठन किया गया। हमारा चयन बेल्ट्रोंन से किया गया है। हमारे साथ चयनित कर्मी अन्य विभागों मे दुगना वेतन प्राप्त कर रहे हैं। जबकि हम गृह जिले से 200-300 किलोमीटर दूर जाकर काम कर रहे हैं। साथ ही हमारे 1 महीने का वेतन भी सुरक्षित राशि के रूप मे विभाग द्वारा रखा गया है। ऐसा किसी अन्य विभाग मे नहीं है। विभाग द्वारा हड़ताल खत्म करवाने के लिए सभी जिलापधिकारियों को पत्र लिखा गया है, लेकिन कर्मियों से हड़ताल खत्म करने के लिए कोई पहल नहीं की गयी है। सिंगल विंडो ओपरेटर रंजीत कुमार शर्मा ने कहा की विभाग जबतक लिखित आश्वासन नहीं देती तब तक पीछे नहीं हटेगे। वहीं क्रेडिट कार्ड का लाभ लेने आये छात्र राहुल ने बताया की वे दिल्ली में पढाई करते हैं। होली की छुट्टी में घर आये थे, क्रेडिट कार्ड योजना से 4 लाख के लोन की आशा से एडमिशन कराया था, रविवार को उनकी दिल्ली की ट्रेन है, समय पर फीस नहीं दी तो पढ़ाई छूट जायेगी।

About Post Author