February 5, 2023

चीन में बेकाबू हुआ कोरोना : एक दिन में 3.7 करोड़ मरीज मिले, महामारी विशेषज्ञओं ने कहा- BF.7 ओमिक्रॉन का सबसे शक्तिशाली वैरिएंट

चीन। चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो गए हैं। बता दे की ब्लूमबर्ग ने चीन की नेशनल हेल्थ कमीशन के हवाले से बताया है कि मंगलवार को यहां एक दिन में 3 करोड़ 70 लाख केसेस सामने आए थे। हालांकि सरकारी आंकड़ों में इस दिन सिर्फ 3 हजार केस ही बताए गए। मिली जानकरी मुताबिक इस महीने के शुरुआती 20 दिनों में 24 करोड़ 80 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। वही इसके पहले जनवरी में एक दिन में 40 लाख कोरोना मरीज मिले थे। वही चीन के बदतर हालात सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियोज बता रहे हैं। एक वीडियो में लोग संतरों के लिए धक्का-मुक्की करते नजर आ रहे हैं। वहीं एक क्लिप में पीपीई किट पहना बच्चा इधर-उधर घूम रहा है। कोरोना के डर के कारण लोग उसे अपने पास नहीं आने दे रहे। वही महामारी विशेषज्ञ एरिक फेगल-डिंग ने भी सोशल मीडिया पर एक वीडियो पोस्ट किया है। इसमें एक अस्पताल में शवों का अंबार देखा जा सकता है। ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट जेनिफर जेंग ने भी एक क्लिप शेयर की है। इसमें दिख रहा है कि सड़कों पर रस्सी बांधकर लोगों को ड्रिप चढ़ाई जा रही है।
जापान 24 घंटों में 1.7 लाख नए कोरोना मरीज मिले
वही चीन के बाद जापान में सबसे ज्यादा कोरोना मामले रिपोर्ट किए जा रहे हैं। कोरोना विश्व मीटर के आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 1 लाख 73 हजार नए केस आए हैं। वहीं 315 लोगों की मौत हुई है। जापान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक यहां 8वीं लहर आ चुकी है। ओमिक्रॉन वैरिएंट के कारण बच्चों की मौत हो रही है। 8 महीने में 41 बच्चों की जान जा चुकी है। चीन में बिगड़ते हालात ने जापान की चिंता को बढ़ा दिया है।
BF.7 ओमिक्रॉन का सबसे शक्तिशाली वैरिएंट
आपको पता है की चीन में ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट BF.7 फैल रहा है। वही हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये ओमिक्रॉन का सबसे शक्तिशाली वैरिएंट है। BF.7 वैरिएंट कोरोना वायरस के स्पाइक प्रोटीन में एक खास म्यूटेशन से बना है। जिसका नाम है R346T। एक्सपर्ट्स के मुताबिक इसी म्यूटेशन की वजह से इस वैरिएंट पर एंटीबॉडी का असर नहीं होता। वही आसान शब्दों में कहें तो अगर किसी शख्स को पहले कोरोना हो चुका है या उसने वैक्सीन लगवाई है। तो उसके शरीर में एंटीबॉडी बन जाती है। BF.7 वैरिएंट इस एंटीबॉडी को भी चकमा देकर शरीर में घुसने में सक्षम है।

About Post Author

You may have missed