December 10, 2022

राज्य में विकास का मार्ग प्रशस्त किया बिहार के प्रथम सीएम डॉ. श्री कृष्ण सिंह ने

पटना। बिहार के प्रथम मुख्यमंत्री बिहार केशरी डॉ. श्री कृष्ण सिंह की 131वीं जयन्ती प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मुख्यालय सदाकत आश्रम में मनायी गयी। इस अवसर पर सदाकत आश्रम के उद्यान में डॉ. श्रीकृष्ण सिंह के चित्र पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा, प्रदेश कांग्रेस कम्पैन कमिटी के अध्यक्ष व सांसद डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह एवं बड़ी संख्या में उपस्थित कांग्रेसजनों ने माल्यार्पण कर भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा कि डॉ. सिंह ने देश की आजादी की लड़ाई पंडित जवाहर लाल नेहरू, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, मौलाना अबुल कलाम आजाद, मौलाना मजहरूल हक के साथ कंधे-से-कंधे मिलाकर लड़ी। स्वतंत्रता के बाद बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में उन्होंने राज्य में विकास का मार्ग प्रशस्त किया। पतरातू एवं बरौनी थर्मल पावर स्टेशन, बरौनी तेल शोधक कारखाना, हेवी इंजीनियरिंग कारपोरेशन रांची बोकारो स्टील कारखाना, बरौनी एवं सिन्दरी खाद कारखाना आदि विकास के कारखाने उन्हीं के कार्यकाल में लगे। डॉ. सिंह संविधान सभा के भी सदस्य रहे। देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू एवं प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद श्री बाबू का बड़ा सम्मान करते थे।

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा ने कहा कि डॉ. सिंह ने अपने कार्यकाल में जमींदारी प्रथा का उन्मूलन किया तथा देवघर के मंदिर में दलितों का प्रवेश कराया। डॉ. झा ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था के तहत कांग्रेस विधान मंडल दल के नेता के लिये डॉ. सिंह एवं डॉ. अनुग्रह नारायण सिन्हा के बीच चुनाव हुआ था, जिसमें श्रीबाबू विजयी रहे थे। लेकिन राज्य मंत्रिमंडल के गठन एवं राज्य प्रशासन के प्रमुख मुद्दों पर श्रीबाबू एवं अनुग्रह बाबू आपसी विचार विमर्श करके ही अंतिम निर्णय लेते थे। डॉ. झा ने कहा कि आज कृतज्ञ राज्य आधुनिक बिहार एवं झारखंड के निर्माण में श्रीबाबू के योगदान को स्मरण कर उनकी स्मृति को शत-शत नमन करती है। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस कम्पैन कमिटी के अध्यक्ष डॉ. अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि डॉ. श्रीकृष्ण सिंह के कार्यकाल में बिहार का स्थान देश के सबसे अच्छे शासित राज्य के रूप में आता था। उन्होंने कहा कि आज श्रीबाबू की जयंती पर हमें उनके सपनों का बिहार बनाने का संकल्प लेना चाहिये।
इस अवसर पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सचिव डॉ. शकील अहमद खान, कार्यकारी अध्यक्ष श्याम सुन्दर सिंह धीरज, पूर्व मंत्री अवधेश कुमार सिंह, कृपानाथ पाठक, पूर्व सांसद पूर्णमासी राम, एम.एल.सी. राजेश राम, मीडिया प्रभारी एचके वर्मा, प्रवक्ता राजेश राठौड़, ब्रजेश पांडेय, पूर्व विधायक नरेन्द्र कुमार, डॉ. हरखू झा, प्रमोद कुमार सिंह, डॉ. अजय कुमार सिंह, जगन्नाथ राय, विजय कुमार मिश्रा, श्रीमती शरबत जहां फातिमा, डॉ. विनोद शर्मा, प्रो. शशि कुमार, युवा कांग्रेस के उपाध्यक्ष गुंजन पटेल, दौलत इमाम, मंजीत आनन्द साहू, केशर कुमार सिंह, डॉ. कमलदेव नारायण शुक्ला, शकीलुर रहमान, राजेश कुमार सिन्हा, प्रतिमा कुमारी दास, कुन्दन गुप्ता, सरोज तिवारी, बशी अख्तर, कौसर खां, अरविन्द लाल रजक, सुनील कुमार सिंह, निरंजन कुमार, शाहनवाज, धीरू यादव, शशि रंजन एवं अन्य कांग्रेस नेताओं ने श्रीबाबू के चित्र पर माल्यापर्ण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

About Post Author

You may have missed