December 5, 2022

पटना समेत पूरे बिहार में पछुआ के कारण ठंड बढ़ी, भागलपुर रहा राज्य का सबसे ठंडा शहर

  • अगले दो-तीन दिनों में तेजी से गिरेगा तापमान, बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति रहें सचेत

पटना। बिहार की राजधानी पटना सहित सूबे के अन्य जिलों में पछुआ हवा चल रही है। जिसका असर सीधे तापमान पर दिख रहा है। पछुआ के चलते तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। ग्रामीण इलाकों में शहरों से ज्यादा ठंड है। ग्रामीण इलाकों में लगातार पारा गिर रहा है। मौसम विभाग की माने, तो आने वाले सप्ताह में पारा और गिरेगा। वहीं पारा गिरने और ठंड बढ़ने से मौसमी बीमारी का प्रकोप भी बढ़ा है। बच्चे और बुजुर्ग कोल्ड कफ, हल्के फीवर वाली बीमारी के शिकार हो रहे हैं। पछुआ हवा के असर से सूबे के कई शहरों के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।
भागलपुर रहा राज्य का सबसे ठंडा शहर
मौसम विभाग के मुताबिक भागलपुर का सबौर 9.0 डिग्री के साथ सबसे ठंडा शहर रहा। वहीं राजधानी पटना का पारा 0.8 डिग्री नीचे चला गया है। पटना का अधिकतम तापमान 27.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक आने वाले दो तीन दिनों में तापमान में और गिरावट दर्ज की जाएगी। पछुआ हवा का प्रवाह बना हुआ है। पहाड़ी इलाकों में चल रही ठंडी हवा का असर बिहार के तापमान पर पड़ रहा है। मौसम विभाग की माने, तो बिहार के बाकी इलाकों में अब लगातार ठंड बढ़ेगी। हालांकि, इस दौरान ग्रामीण इलाकों में मौसम साफ रहेगा। लोग धूप का आनंद ले सकते हैं।
अगले दो से तीन दिनों में रात तेज़ी से गिरेगा रात का तापमान
मौसम विभाग के अनुसार, अगले दो से तीन दिनों में रात के पारे में अभी और बदलाव आएगा। दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक की कमी तापमान में आएगी। दिन के तापमान में विशेष बदलाव नहीं आएगा। पछुआ हवा अधिक आद्रता के साथ बह रही है जिसके कारण मौसम में ये बदलाव तेजी से हो रहा है। मौसम शुष्क होने और आसमान साफ होने के कारण दिन में धूप निकली रहेगी। लेकिन शाम होते ही ठिठुरन बढ़ेगी और अहले सुबह तक ठंड का असर बना रहेगा।
स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहें
वही मौसम में लगातार बदलाव की वजह से बच्चों में कोल्ड कफ और ड्राय कफ की समस्या बढ़ी है। शाम के वक्त सावधान नहीं रहने पर किसी को भी ठंड लग सकती है। उन्होंने शुगर और बीजेपी के मरीजों को अहले सुबह न उठने की सलाह दी है। चिकित्सक ने बताया कि तापमान में लगातार हो रही गिरावट के बाद मौसमी बीमारी का प्रकोप बढ़ा है। राजधानी के अस्पतालों में मौसमी बीमारी को लेकर लोगों की भीड़ बढ़ रही है। डॉ. सरिता सिन्हा ने खासकर गर्भवती महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों से सावधान रहने की अपील की है। उन्होंने सुबह में गुनगुने पानी का सेवन करने की सलाह दी है। डॉक्टर ने कहा कि आने वाले दिनों में पारा और गिरता है, उस वक्त स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने की जरूरत है।

About Post Author

You may have missed