August 11, 2022

संसद के आगामी सत्र में आएगा प्राइवेट मेंबर बिल, जानिए क्या है

शहीद स्मारक पर सफलतापूर्वक संपन्न हुआ जापलो का नारी बचाओ पदयात्रा

पटना। जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय संरक्षक सह सांसद पप्पू यादव ने पटना के मिलर हाई स्कूल मैदान में कहा कि वे देश में महिला उत्पीड़न को खत्म करने के लिए संसद के आगामी सत्र में एक प्राइवेट मेंबर बिल लायेंगे। जिसके तहत बलात्कार, छेड़छाड़, महिला उत्पीड़न के आरोपियों एवं बलात्कारियों के संरक्षकों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल होने के उपरांत आरोपमुक्त होने तक चुनाव लड़ने, संवैधानिक पदग्रहण करना प्रतिबंधित होगा। ताकि कोई रेपिस्ट विधायिका, संवैधानिक व्यवस्था का हिस्सा न बन सके। पप्पू यादव ने ये बातें आज पार्टी द्वारा मधुबनी से पटना तक 6 से 16 सितंबर के बीच आयोजित नारी बचाओ पदयात्रा के समापन समारोह के दौरान की। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि राज्य में दलालों, माफियाओं और बलात्कारियों को संरक्षण देने वालों का राज है। अगर पांच महीना मुझे मिले है, तो खत्म कर दूंगा उनका साम्राज्य।

उन्होंने कहा कि राज्यभर में महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न की घटनाएं बढ़ रही हैं। आश्रयगृह अय्याशी के अड्डे बन गये हैं। इनके संचालकों को सरकार का संरक्षण प्राप्त है। पार्टी लगातार आश्रयगृहों में पनप रहे अवैध धंधों का विरोध शुरू से कर रही थी। इस मुद्दे को हमने सड़क से संसद तक उठाया। तभी इस मामले का खुलासा हुआ। महिलाओं की लुट रही आबरू की किसी को चिंता नहीं हैं, क्योंकि सत्ता और विपक्ष दोनों कुर्सी पाने और बचाने की राजनीति कर रहे हैं।
सांसद ने पूछा कि बिहार में पिछले 28 वर्षों में जितने रेप, गैंगरेप आदि नारी उत्पीड़न के मामले हैं, उन सबकी क्या स्थिति है? कितने मामले का निपटारा हुआ? कितने में सजा हुई? सरकार श्वेत पत्र जारी करे। जिन मामलों में सजा नहीं हुई या, लंबित है, उन्हें दुबारा खोल कर या स्पीडी ट्रायल कर 6 माह के अंदर दोषियों की सजा सुनिश्चित करे। पीड़ित महिलाओं के पुनर्वास और इस उत्पीड़न के मानसिक अवसाद से उबरने के लिए सरकार कार्ययोजना बनाए। जीवन में आगे बढ़ने, आर्थिक स्वाबलंबन के लिए सरकार आर्थिक एवं अन्य रूप में सहयोग करे। बलात्कार, छेड़खानी के आरोपी एवं उनके संरक्षकों पर मामले दर्ज होने पर उनका सम्पूर्ण नागरिक अधिकार बरी होने तक निलंबित कर दिया जाय।
उन्होंने कहा कि पार्टियों में सांगठनिक राजनीतिक पदों पर आसीन महिला अत्याचार के आरोपियों और संरक्षकों को दल से निष्कासित करें। रेप, छेड़छाड़ और नारी उत्पीड़न के आरोपी राजनेताओं, अधिकारियों समेत सभी आरोपियों के मामलों का स्पीडी ट्रायल कर तीन महीने में निपटारा करें।


उन्होंने कहा कि पार्टी का नारी बचाओ पदयात्रा महिलाओं के मान-सम्मान की रक्षा के प्रति जनजागरूकता फैलाने का अभियान था और इसे व्यापक समर्थन मिला। इसके लिए हम बिहार की 11 करोड़ जनता के प्रति आभार व्यक्त करते हैं। मालूम हो कि मधुबनी से पटना तक आयोजित पदयात्रा का विधान सभा परिसर के पास स्थित शहीद स्मारक पर माल्यार्पण के बाद औपचारिक समापन हो गया है। समापन समारोह का आयोजन मिलर हाईस्कूल मैदान में किया गया। सभी लोगों ने महिलाओं के सम्मान की रक्षा का संकल्प लिया।
नारी बचाओ पदयात्रा के समापन समारोह को पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सह बिहार सरकार के पूर्व मंत्री अखलाक अहमद, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुपति प्रसाद सिंह, अजय कुमार बुल्गानिन, राष्ट्रीय महासचिव अकबर अली परवेज, एजाज अहमद, फजील अहमद, महिला प्रदेश अध्यक्ष कमला सरदार, राष्ट्रीय महासचिव सह प्रवक्ता राघवेंद्र कुशवाहा, प्रेमचंद सिंह, राजेश रंजन पप्पू, राष्ट्रीय सचिव दानिश खान, माहताब अहमद, नागेंद्र सिंह त्यागी, उमैर खान उर्फ टिक्का खान, चक्रपाणि हिमांशु, अवधेश कुमार लालू, गौतम आनंद, भारतीय क्रांतिवीर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बैद्यराज कृष्ण पासवान, मधेपुरा महिला अध्यक्ष रतन सिंह, सिवान महिला अध्यक्ष पूनम सिंह, झंझारपुर महिला अध्यक्ष वीणा देवी, सुपौल महिला अध्यक्ष निधी यादव, पटना जिला महिला अध्यक्ष रेणु जायसवाल, शीतल गुप्ता, वंदना भारती, ज्योति चंद्रवंशी, प्रिया राज समेत अन्य नेताओं ने संबोधित किया।

You may have missed