पाकिस्तान में 13 से 18 जुलाई तक यूट्यूब, समेत कई सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रतिबंध, सरकार का फरमान जारी

नई दिल्ली। पाकिस्तान में अभिव्यक्ति की आजादी पर वहां की सरकार लगातार हमला कर रही है। चार महीने से अधिक समय से ट्विटर यानी कि एक्स बैन है। अब शहबाज शरीफ की सरकार ने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म यूट्यूब, व्हाट्सऐप, फेसबुक, इंस्टाग्राम और टिकटॉक को 13 से 18 जुलाई तक छह दिनों के लिए बैन करने का फैसला किया है। सरकार को इस बात की आशंका है कि रमजान के दौरान घृणा फैलाने वाली सामग्री सोशल मीडिया पर फैलाई जा सकती है। मुख्यमंत्री मरियम नवाज़ की कानून और व्यवस्था पर कैबिनेट समिति ने पंजाब प्रांत में 13-18 जुलाई के दौरान सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर प्रतिबंध लगाने की सिफारिश की है। गुरुवार देर रात लाहौर में जारी पंजाब सरकार की अधिसूचना के जरिए इसकी जानकारी दी गई है। मरियम नवाज़ की पंजाब सरकार ने केंद्र में अपने चाचा शहबाज़ शरीफ की सरकार से अनुरोध किया है कि वह इंटरनेट पर सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को छह दिनों (13-18 जुलाई) के लिए निलंबित करने की अधिसूचना जारी करे। पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल असीम मुनीर पहले ही सोशल मीडिया को दुष्ट मीडिया घोषित कर चुके हैं। उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफार्म को डिजिटल आतंकवाद करार दिया है। उन्होंने इससे लड़ने की आवश्यकता पर जोर दिया है। वहीं, पाकिस्तान के उप प्रधानमंत्री इशाक डार ने हाल ही में सोशल मीडिया पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का आह्वान किया था। शहबाज सरकार ने पिछले फरवरी में पाकिस्तान के चुनाव आयोग द्वारा आम चुनाव के नतीजों को बदलने के आरोपों के बाद एक्स को बंद कर दिया था। अप्रैल 2022 में अविश्वास प्रस्ताव के जरिए पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को हटाए जाने के बाद से ही सेना और सरकार दोनों को सोशल मीडिया पर कड़ी प्रतिक्रिया मिल रही थी। सरकार ने तब से इमरान खान की पार्टी के दर्जनों सोशल मीडिया कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।

About Post Author

You may have missed