सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म ‘हमारे बारह’ की रिलीज पर लगाई रोक, मुस्लिम महिलाओं की स्थिति को गलत पेश करने पर दिया फैसला

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने फिल्म ‘हमारे बारह’ की रिलीज पर रोक लगा दी है। अदालत ने बॉम्बे हाई कोर्ट को निर्देश दिया है कि वह इस मामले में दाखिल अर्जी पर जल्द से जल्द फैसला ले। उच्च न्यायालय में दाखिल अर्जी में कहा गया है कि यह फिल्म इस्लाम की मान्यता के खिलाफ है और विवाहित मुस्लिम महिलाओं को गलत ढंग से दिखाती है। जस्टिस विक्रम नाथ और जस्टिस संदीप मेहता की बेंच ने कहा कि जब तक हाई कोर्ट में दाखिल अर्जी पर फैसला नहीं होता, तब तक फिल्म की स्क्रीनिंग पर रोक जारी रहेगी। फिल्म ‘हमारे बारह’ की रिलीज 14 जून को होनी थी, लेकिन अब इसे टाल दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने आग्रह किया है कि हाई कोर्ट इस अर्जी पर जल्दी फैसला ले। बॉम्बे हाई कोर्ट ने मूवी की रिलीज पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था, जिसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी। याचिकाकर्ताओं की वकील फौजिया शकील ने बताया कि उच्च न्यायालय ने इस फिल्म के सीन देखने के लिए केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड को एक समिति बनाने का आदेश दिया है। इस समिति को विवादित सीन्स की समीक्षा करनी होगी और उन पर राय देनी होगी। फिल्म निर्माताओं के वकील ने अदालत में कहा कि सभी आपत्तिजनक सीन हटा दिए गए हैं। इस पर अदालत ने कहा कि ऐसा नहीं हुआ है। उन्होंने बताया कि फिल्म का टीजर देखने पर साफ है कि आपत्तिजनक सीन अभी भी मौजूद हैं। फिल्म निर्माताओं के वकील ने कहा कि रिलीज पर स्टे लगाने से उन्हें नुकसान होगा, लेकिन जज ने इस पर टिप्पणी करते हुए कहा कि अगर टीजर ही इतना आपत्तिजनक है तो पूरी फिल्म में क्या होगा। अदालत ने कहा कि पहली नजर में ऐसा लगता है कि आप विवादित सीन हटाने में असफल रहे हैं। उच्च न्यायालय में दाखिल अर्जी में कहा गया था कि यह फिल्म विवाहित मुस्लिम महिलाओं का गलत चित्रण करती है और उनके अधिकारों को कमतर दिखाती है, जैसा कि कुरान में कहा गया हो। फिल्म में कुरान की आयतों की गलत व्याख्या की गई है। उच्च न्यायालय ने फिल्म निर्माताओं से कहा था कि वे 14 जून तक फिल्म रिलीज न करें। इसके बाद, उच्च न्यायालय ने फिल्म प्रमाणन बोर्ड को तीन सदस्यों की एक समिति बनाने का आदेश दिया, जिसमें कम से कम एक मुस्लिम सदस्य शामिल होना चाहिए। फिल्म का टीजर जारी होने के बाद अन्नू कपूर ने एक वीडियो शेयर किया था, जिसमें उन्होंने फिल्म को लेकर मचे विवाद पर प्रतिक्रिया दी थी। अन्नू कपूर ने अपने वीडियो में दावा किया था कि ये फिल्म सामाजिक मुद्दे पर आधारित है। वीडियो में अभिनेता ने कहा था- ‘ये फिल्म सिर्फ महिला सशक्तिकरण और महिलाओं के अधिकारों की वकालत करती है। आप सभी पहले फिल्म देखें और इसके बाद ही कोई धारणा बनाएं या अपना फैसला दें। सबको अपनी बात कहने की आजादी है, लेकिन इस तरह किसी को गाली नहीं देनी चाहिए। गा या जान से मारने की धमकी न दें। हम इन चीजों से डरने वाले नहीं हैं। याचिकाकर्ताओं ने बॉम्बे हाई कोर्ट के इस आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती देते हुए कहा था कि यह फिल्म इस्लामी आस्था के खिलाफ है और भारत में विवाहित मुस्लिम महिलाओं का अपमान करती है। फिल्म के कुछ डायलॉग्स पर भी आपत्ति जताई गई है। फिल्म का टीजर जारी होने के बाद अभिनेता अन्नू कपूर ने एक वीडियो साझा किया था, जिसमें उन्होंने फिल्म को लेकर मचे विवाद पर प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने दावा किया था कि यह फिल्म सामाजिक मुद्दे पर आधारित है और महिला सशक्तिकरण और महिलाओं के अधिकारों की वकालत करती है। अन्नू कपूर ने कहा था कि फिल्म को देखने के बाद ही धारणा बनानी चाहिए और किसी को गाली या जान से मारने की धमकी नहीं देनी चाहिए। इस फैसले के बाद, फिल्म ‘हमारे बारह’ की रिलीज अनिश्चितकाल के लिए स्थगित हो गई है, और अब बॉम्बे हाई कोर्ट के फैसले का इंतजार किया जा रहा है।

About Post Author

You may have missed