Fri. Aug 23rd, 2019

इलाज के दौरान पीएमसीएच में कैदी की मौत,परिजनों ने लगाया फुलवारी थानाध्यक्ष पर पिटाई का आरोप

पटना।पीएमसीएच में इलाजरत एक कैदी के हुए मौत ने पटना पुलिस को एक बार फिर कटघरे में खड़ा कर दिया है।मृत कैदी के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने हिरासत में उक्त कैदी की बहुत ज्यादा पिटाई की थी।जिस कारण से इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।इस घटना से पटना पुलिस की कार्यशैली पर एक बार फिर सवाल खड़ा हुआ ।मरने वाले कैदी का नाम प्रवीण राम है।जो शराब बंदी कानून के तहत दूर जेल में बंद था।घटना के संबंध में बताया जाता है कि बेउर जेल में बंद प्रवीण राम नामक कैदी की पीएमसीएच में इलाज के दौरान मौत हो गई।प्रवीण नाम को शराब बंदी कानून के तहत फुलवारी थाना ने गिरफ्तार कर जेल भेजा था।प्रवीण राम के परिजनों ने फुलवारी के थाना प्रभारी कैसर आलम का नाम लेते हुए आरोप लगाया है कि गिरफ्तारी के उपरांत थानाध्यक्ष कैसर आलम ने बहुत बेरहमी के साथ उसकी पिटाई की थी।उसके बाद उसे जेल भेज दिया।जेल में हालत बिगड़ने पर उसे पीएमसीएच में दाखिल कराया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। परिजनों ने थाना प्रभारी पर कार्रवाई की मांग की है।