Sun. Jul 21st, 2019

संपतचक में बिजली मिस्त्री के मौत से भड़का गुस्सा,उग्र ग्रामीणों ने पटना मसौढी मुख्य-मार्ग जाम किया

फुलवारीशरीफ।संपतचक के बैरिया  में खराब हुये ट्रांसफर्मर की मरम्मत करने के दौरान  चढ़े मिस्त्री की अचानक करंट प्रवाहित होने से मौत हो गयी। 440 वोल्ट के संपर्क में आते ही अचानक तेज आवाज के साथ मिस्त्री उमा कांत त्रिपाठी  ट्रांसफर्मर से   निचे गिर गये और दम तोड़ दिया। उसकी मौत के बाद ग्रामीणों का आक्रोश फूट पड़ा। गुस्साए लोगों ने पटना -मसौढी रोड  जाम कर घंटों हंगामा किया। इस दौरान मौके पर पहुंची पुलिस को भी ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। शुक्रवार को साढे दस  बजे गोपालपुर के अब्दुल्लाह चक  निवासी स्व सुरेश त्रिपाठी का बेटा  45 वर्षीय उमा कांत त्रिपाठी बिजली ठीक करने के लिए संपतचक के बैरिया  स्थित ट्रांसफर्मर पर चढ़ा था। ट्रांसफर्मर की मरम्मत के बाद जैसे ही निचे उतर रहा था तभी अचानक बिजली आ गई। नतीजतन हाई वोल्टेज करंट की चपेट में आने से उमाकांत त्रिपाठी निचे गिर गये और वही पर  मौत हो गयी ।  घटना के बाद मौके पर जुटे स्थानीय लोगों ने पटना -मसौढी रोड स्थित बैरिया के निकट शव रख कर तीन घंटे तक जाम कर दिया और मुआवजा के लिए बिजली विभाग के खिलाफ जम कर नारे बाजी की।  आक्रोशित लोग उमा कांत त्रिपाठी  के परिजनों को 20 लाख रुपये मुआवजा, एक आश्रित को नौकरी देने और दोषी पर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। ग्रामीणों के आक्रोश को देखते हुए थानाध्यक्ष आलोक कुमार  पुलिस टीम के साथ मौके पर डटे रहे। आक्रोशितों को समझाने के दौरान पुलिस को भी भीड़ के आक्रोश का सामना करना पड़ा। सुबह करीब 11 बजे से दोपहर एक बजे तक सड़क जाम रहने से राहगीरों को फजीहत झेलनी पड़ी। रोते-बिलखते रहे परिजन परिवार का इकलौता कमाऊ व्यक्ति असमय काल के गाल में समा गया। त्रिपाठी  की मौत के बाद घटनास्थल पर उसके परिजनों की चीत्कार सुनकर हर किसी की आंखों से आंसू छलक उठे। मृतक की पत्नी किरण देवी अपने पति की लाश देखकर बार-बार बेहोश हो रही थी। मृतक के  दो बच्चे  इनमें  13 साल का बेटा कन्हैया कुमार और  17साल की बेटी शिल्पी कुमारी हैं  । पुलिस गुस्साये ग्रामिणो को मानमनव्वल के बाद शव को अपने कब्जा मे लिया और पोस्टमाटर्म के लिए एनएमसीएच भेजा दिया । कंकडबाग 2 के कार्यपालक अभियंता नंद लाल चौधरी ने कहा कि मृतक मानव बल के मिस्त्री थे।  ट्रॉसफर्मर बनाने के बाद उतरने समय रिटर्निंग बिजली आ गयी जिसके कारण मिस्त्री चपेट मे आ गया है और मौत हो गयी । तत्काल दाह संस्कार के लिए बीस हजार रूपये दिया गया है ।कागजी काम होने पर चार लाख रूपये मिलेगा।