Tue. May 21st, 2019

नीतीश कुमार के कार्यकाल की निष्पक्ष ऑडिट हो,तो बनेगा घोटालों का विश्व कीर्तिमान-राजेश राठौर

पटना।बिहार के मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकार में अब तक जितने घोटाले हुए हैं।अगर उसकी बारीकी से निष्पक्ष ऑडिट की जाए तो बिहार में घोटालों का एक विश्व कीर्तिमान बन जाएगा। यह सवाल लाजिमी है की आखिर किस मुंह से भ्रष्टाचार के मामले पर जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी।जबकि बिहार में इनके कार्यकाल में सृजन घोटाला, गर्भाशय घोटाला,शौचालय घोटाला,धान घोटाला,तटबंध घोटाला,छात्रवृत्ति घोटाला तथा दवा घोटाले की जांच जारी है।वहीं इस शासनकाल में विभिन्न सरकारी विभागों में जमकर वित्तीय अनियमितता वाले कारनामे नित्य दिन सुर्खियां बटोरते रहते हैं। यह बातें बिहार प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौर ने एक प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहीं। कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौर ने बताया कि बिहार के नीतीश सरकार ने घोटालों की लंबी फेहरिस्त है। मगर सत्ता में होने का लाभ उठाकर भाजपा एवं जदयू इन घोटालों में होने वाले जांच को प्रभावित कर रही है। अगर निष्पक्ष जांच हो जाए तो सत्ता के शीर्ष में बैठा व्यक्ति भी जांच के घेरे में आ जाएगा। सर्वविदित है कि सृजन घोटाले की जांच सीबीआई के द्वारा जारी है।मगर लगता है कि केंद्र सरकार के दबाव में आकर सीबीआई अपने जांच में शिथिलता बरत रही है। सभी जानते हैं की सीबीआई इस मामले में किन लोगों को बचाने में लगी हुई है।राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को अपने कार्यकाल में हुए घोटालों के बारे में जनता को जवाब देना चाहिए।