Sun. Jul 21st, 2019

सारण में दिखा विशालकाय गिद्ध,लोगों में कौतूहल,वन विभाग ने लिया कब्जे में

पटना । बिहार के सारण के दरियापुर प्रखंड के अकबरपुर केसरपुर मही नदी के बांध पर एक गिद्ध दिखा। काफी अर्से बाद गिद्ध देखे जाने की खबर से लोगो मे कैतूहलवश एक झलक पाने की होड़ लग गयी । उसे देखने के लिए सैकड़ों लोगों की भीड़ जमा हो गई। लोगों की भीड़ देख गिद्ध उड़ा और फिर बाद में यह गिद्ध केसरपुर पुल के समीप काफी देर तक बैठा रहा । विशालकाय गिद्ध को देखने के बाद स्थानीय लोग तरह तरह की बात करते नजर आये। स्थानीय लोगों ने वन विभाग को इसकी सूचना दी। विभाग पटना के अधिकारी रामप्रवेश सिंह अपने कर्मियो के साथ उक्त स्थल पर पहुंचे और उस पक्षी को अपने साथ संजय गांधी जैविक उद्यान पटना ले गए। वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि विलुप्त हो रहे इस पक्षी के कारण दिन प्रतिदिन प्रदूषण बढ़ता जा रहा है । गिद्ध पक्षी वातावरण को स्वच्छ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते थे।गौरतलब हो कि करीब तीस पैंतीस साल पहले तक पटना समेत राज्य के अधिकांश हिस्से में गिद्ध प्रजाति असानी से देखे जाते थे। धीरे धीरे जंगलो की कटाई शहरीकरण और मोबाइल टावरों की बेतहाशा तरीके से लगाने की होड़ में प्राकृतिक सुंदरता के पक्षियों के विलुप्त होने का खतरा उतपन्न गया ।

प्रकृति के सफाईकर्मी माने जाने वाले गिद्ध विलुप्ति की कगार पर पहुंच चुके हैं. गिद्धों की लगभग 99 फीसदी आबादी के मारे जाने के बाद अब इनके संरक्षण के लिए प्रयास किये जा रहे हैं.
पर्यावरण के रक्षक के रूप में पहचानी जाने वाली गिद्ध प्रजाति संरक्षण के अभाव में पूरे देश से समाप्त होने की कगार पर खड़ी है. एक अनुमान के मुताबिक 40 साल पहले जहां देश में लगभग चार करोड़ गिद्ध थे तो अब चार लाख भी नहीं बचे हैं. गिद्धों की संख्या में आयी इस तेज़ गिरावट के बाद सरकार की नींद टूटी है और वह इनकी संख्या बढ़ाने के विभिन्न उपायों पर काम कर रही है.